सीमा विवाद का असर, भारत में कार्यरत एकमात्र चीनी Table Tennis कोच वापस चीन लौटे

0
877
The impact of the border dispute, only Chinese Table Tennis coach working in India returned to China
File Photo Of Yin Wei. Image Credit: ttfi.org

कोलकाता स्थित साई सेंटर में कोचिंग दे रहे थे यिन वेई

कोलकाता। लदाख में चल रहे तनाव का असर अब खेलों पर भी दिखने लगा है। भारत में चीन विरोधी माहौल के बीच भारत में कार्यरत इकलौते चीनी कोच यिन वेई अपनी पत्नी के साथ वापस चीन लौट गए हैं। यिन वेई कोलाकाता स्थित साई-कोल इंडिया अकादमी में Table Tennis के कोच थे।

यिन वेई भारत वापस लौटेंगे या नहीं, इस पर अभी कोई जानकारी नहीं है। हालांकि Table Tennis फेडरेशन ऑफ इंडिया का मानना है कि एक बार स्थितियां सामान्य हुईं और हवाई यात्रा शुरू हुई तो यिन वापस आ सकते हैं। दरअसल यिन लंबे समय से भारतीय Table Tennis टीम से जुड़े हैं। उन्होंने 12 सालों तक अजमेर स्थित अकादमी में भी प्रशिक्षण दिया, लेकिन कोलकाता में लगातार बढ़ रहे कोरोना के प्रकोप और एलएसी पर दोनों देशों के बीच चरम पर पहुंच रहे तनाव ने यिन वेई को छुट्टी पर चीन जाने के लिए मजबूर कर दिया।

अब महिला खिलाड़ियों को भी मिलेगी पुरुषों के बराबर Salary

उन्होंने टीटीएफआई से प्रार्थना की कि उनकी उम्र 65 के करीब है। उनको यहां खतरा ज्यादा है। ऐसे में उन्हें उनके देश वापस जाने दिया  जाए। इसके बाद चीनी दूतावास से संपर्क साधकर उन्होंने वापस चीन भेजने की व्यवस्था की। उन्हें और उनकी पत्नी को चीन की ओर से चलाए जा रहे विशेष विमान से भेजा गया है।

हाल ही में बढ़ाया था करार

जुलाई माह में ही खेल मंत्रालय और साई ने यिन वेई का करार 35 सौ अमेरिकी डॉलर प्रति माह पर जून 2024 तक के लिए बढ़ाया था। उस दौरान भी एलएसी पर दोनों देशों के बीच तनाव था। बावजूद इसके भारत में अपने पुराने Table Tennis कोचिंग के अनुभव को देखते हुए उन्होंने यहां रुकना बेहतर समझा। फेडरेशन ने यह भी संकेत दिए हैं कि अगर सरकार उनके आने में रुचि नहीं दिखाती है तो फिर उनसे किनारा भी किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here