सड़क पर सब्जी बेचने को मजबूर Mohun Bagan का होनहार फुटबाॅलर

0
762
Mohun Bagan's promising footballer forced to sell vegetables on the road
Image Credit: indianexpress

Mohun Bagan की अंडर-19 टीम के सदस्य दीप बाग पर टूटा कोरोना का कहर

 

कोलकाता। कोरोना का कहर किस कदर देश की खेल प्रतिभाओं पर पड़ रहा है, इसकी एक बानगी पश्चिम बंगाल में देखने को मिली। जहां कोरोना संकट ने Mohun Bagan क्लब के एक होनहार फुटबॉलर को सब्जी बेचने पर मजबूर कर दिया है। हुगली जिले के कोन्ननगर के बांझाराम मित्र लेन निवासी फुटबाॅलर दीप बाग इन दोनों रास्ते के किनारे सब्जी बेचकर अपना तथा अपने परिवार का पेट पालने को मजबूर है।

दीप बाग दुर्गापुर Mohun Bagan एकेडमी के तहत अंडर 19 का खिलाड़ी है। लेकिन अब घर की माली हालत खराब होने पर इलाके में ही रास्ते पर सब्जियां बेच रहा है। दीप के पिता पेशे से रिक्शा चालक हैं। कोरोना के कारण काम और खेल दोनो बंद हैं, लिहाजा परिवार की हालत बिगड़ती जा रही है।

दीप के पिता ने मेहनत के साथ रिक्शा चलाकर दीप को इस मुकाम तक पहुंचाया है। लेकिन लॉकडाउन के दौरान अब उन्हें काम नहीं मिल रहा है। पिता की मजबूरी को देखते हुए बेटे दीप ने पिता का बोझ कम करने के लिए काम शुरू किया है। दीप ने अपनी  मेहनत के बल पर मोहन बागान एकेडमी में जगह बनाई थी। उसका कहना है कि प्रति माह भत्ते के तौर पर उसे एक हजार रुपये भी मिलते थे। लेकिन लाॅकडाउन के बाद से वह भी बंद हो गया है। उसका कहना है कि पिता का बीमार शरीर अब रिक्शा चलाने के लाइक नहीं है।

कोई काम छोटा नहीं होता

दीप का कहना है कि दो वक्त की रोटी के लिए उसे सब्जी बेचनी पड़ रही है। कोई भी काम छोटा नहीं होता है। उसे आशा है कि कोरोना का कहर कम होने के बाद वह फिर से फुटबाॅल की दुनिया में चला जाएगा और एक दिन अपने पिता का नाम रोशन करेगा।

Mohun Bagan विजेता टीम का हिस्सा रहा दीप बाग

गौरतलब है कि दीप बाग मोहन बागान की टीम का हिस्सा रहा है। जिसने पिछले साल अंडर-19 फुटबाॅल लीग का विवादित फाइनल ईस्ट बंगाल के खिलाफ खेला था। फाइनल मैच को दर्शकों के भारी हंगामे के कारण रोकना पड़ा था। जिसके बाद दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया गया था।

आर्थिक मदद की कवायद शुरू

दीप की खराब स्थिति में उसकी मदद के लिए अब लोग सामने आए हैं। Mohun Bagan फैन ग्रुप, दिल्ली मैरीनर्स ने सोशल मीडिया पर दीप की मदद के लिए मुहिम शुरू की है। दिल्ली मैरीनर्स के प्रवक्ता अरीजीत सामंता ने बताया कि दीप के संबंध में मोहन बागान के प्रबंधन से भी बात की गई है। लाॅकडाउन समाप्त होने के बाद फिर से खेलने में भी उसकी मदद की जाएगी। मैरीनर्स ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दीप बाग की मदद के लिए बैंक अकाउंट की डीटेल्स भी जारी की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here