‘ईमानदार’ Steve Bucknor भी निकले बेईमान, खुद स्वीकार की अपनी गलतियां

0
315

Steve Bucknor ने भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट में अंपायरिंग की खामियां कुबूलीं, करियर के आखिर में करते रहे जमकर गड़बड़ी

नई दिल्ली। यूं तो अंपायर Steve Bucknor को ईमानदार अंपायर माना जाता है लेकिन उनके साथ कई विवाद भी जुड़े हुए हैं। अब इस बात को Steve Bucknor ने खुद कुबूल किया है कि उन्होंने अंपायरिंग के दौरान कई गलत फैसले दिए थे। बकनर ने एक साक्षात्कार में खुद इस बात को स्वीकार किया है कि 2008 में भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज के दौरान सिडनी टेस्ट में कई गलत फैसले दिए थे।

गौरतलब है कि 2009 में 128 टेस्ट और 181 वनडे मुकाबलों में अंपायरिंग करने के बाद Steve Bucknor ने संन्यास ले लिया था। उन्होंने अंपायरिंग के अपने करियर में कई गलत फैसले दिए, फिर भी लंबे समय तक आईसीसी के एलीट पैनल में शामिल रहें। बकनर ने अपने करियर के आखिरी में ज्यादा गलतियां की थीं।

अंपायर Steve Bucknor ने एक साक्षात्कार में कहा कि उन्होंने 2008 में हुए सिडनी टेस्ट में दो गलतियां की थीं। पहली गलती तब हुई जब भारतीय टीम बेहतर खेल रही थी। तब उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज को शतक बनाने दिया था। दूसरी गलती इस टेस्ट के पांचवें दिन थी। उन्होंने कहा कि इससे शायद भारत मुकाबला हार गया।

धोनी की अपील को कर दिया था खारिज

Steve Bucknor ने आगे कहा कि कोई भी फिर से ऐसी ही गलतियां नहीं करना चाहता। लेकिन, कई बार ऐसा होता है जब हवा पिच पर बह रही होती है और आवाज हवा के साथ हो जाती है। कमेंटेटर स्टंप माइक से आवाज सुन सकते हैं, लेकिन अंपायरों को कभी-कभी पता नहीं चलता है। ये ऐसी चीजें हैं जिन्हें दर्शक नहीं जान पाएंगे। Steve Bucknor ने इंशात शर्मा की गेंद पर एंड्रयू साइमंड्स के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी की अपील को खारिज कर दिया था। उस समय साइमंड्स 80 रन पर थे।

Steve Bucknor ने दो गलतियां खुद बताई..क्रिकेट प्रमियों ने कई गिनाई

गौरतलब है कि Steve Bucknor की अंपायरिंग में इन गलतियों के बाद साइमंड्स ने 162 रन की पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया की टीम 6 विकेट पर 184 रन के बाद 468 रन बनाने में सफल हो गई। इसके बाद बकनर ने राहुल द्रविड़ के खिलाफ गलत फैसला दिया था। भारत मैच ड्रॉ कराने के लिए लड़ रहा था। उन्होंने द्रविड़ को आउट दे दिया और भारत मैच 122 रन से हार गया। इसके बाद मंकीगेट प्रकरण के कारण उन्हें तीसरे टेस्ट में अंपायरिंग करने से रोक दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here