#Corona: अब IIT के बनाए मास्क के साथ ट्रेनिंग करेंगे खिलाड़ी

0
974

भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) की पहल, ट्रायल शुरू

पहले चरण में Olympic की तैयारियों जुटे खिलाड़ियों को करवाएंगे उपलब्ध

नई दिल्ली। कोरोनाकाल में खिलाड़ियों को मास्क पहनकर ट्रेनिंग में हो रही परेशानियों का इलाज ढूंढ लिया गया है। Indian Olympic Association (IOA) ने IIT के विशेषज्ञों की मदद से एक फेस मास्क विकसित किया है। बैट्री की मदद से ऑपरेट होने वाले इस मास्क में दायीं और बांयी तरफ दो रेसपेरेटरी वाल्व होंगे। जिससे खिलाड़ी को मास्क लगाने के बावजूद पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलती रहेगी।

दरअसल, Corona के कारण खिलाड़ियों को ट्रेनिंग सेशन में भी मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। लेकिन इससे खिलाड़ियों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है। इसलिए यह मास्क तैयार करवाया गया है। इसे दुनिया का सबसे हल्का मास्क बताया जा रहा है।

मास्क में लगी बैटरी को चार्ज किया जा सकेगा। भारतीय ओलंपिक संघ के सचिव राजीव मेहता ने बताया कि ट्रायल के तौर पर यह मास्क 10 से 15 खिलाड़ियों को उपलब्ध करवाया जाएगा। उनके अनुभव के आधार पर आगे इसका उपयोग होगा।

मेहता ने कहा कि जब खिलाड़ियों की ट्रेनिंग शुरू की गई थी तो वो भी इसके पक्ष में नहीं थे। लेकिन बाद में लगा कि यह Corona Virus कहीं नहीं जा रहा है। इसके साथ ही काम आगे बढ़ाना होगा। इसलिए हमने ऐेसे उपाय ढूंढने शुरू किए जिससे हमारे खिलाड़ी भी सुरक्षित रहें और उनकी ट्रेनिंग भी प्रभावित नहीं हो। आशा है कि यह मास्क हमारी मदद करेगा।

Indian Olympic Association said Now players will train with mask made by IIT 1

कैसा है यह मास्क

यह मास्क एक विशेष किस्म के कपड़े से तैयार किया गया है। इसमें दायीं और बांयी तरफ दो रेसपेरेटरी वाल्व होंगे। ये वाल्व एक विशेष डिवाइस से जुड़े होंगे। यह डिवाइस मोबाइल की तरह चार्जेबल होगी। इससे मास्क के भीतर की हवा शुद्ध होती रहेगी। वाल्व के जरिए सांस लेने पर ऑक्सीजन भीतर आएगी और कार्बन डाइआक्साइड बाहर जाएगी। यही नहीं मास्क पर एंटी बैक्टीरियल कोटिंग होगी। वायरस या अन्य सूक्ष्म जीवाणु इससे टकराते ही निष्क्रिय हो जाएंगे। एक मास्क की कीमत करीब तीन हजार रुपए होगी।

पहले Olympic की तैयारी करने वालों को मिलेगा मास्क

आईओए के सचिव राजीव मेहता ने बताया वह जल्द ही इसकी लांचिंग करने जा रहे हैं। लांचिंग के समय मास्क से संबंधित और जानकारियां दी जाएंगी। पहले चरण में भारतीय ओलंपिक संघ उन खिलाड़ियों को यह मास्क उपलब्ध कराएगा जो ओलंपिक की तैयारी में जुटे हैं या क्वालीफाई कर चुके हैं। इसके बाद यह मास्क राष्ट्रीय कैंपों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को दिए जाएंगे।

सरकार से मदद ली जाएगी

राजीव मेहता ने बताया कि Corona संक्रमण का डर अगले दो-तीन वर्षों तक लोगों में बना रहेगा। ऐसे में देश के सभी खिलाड़ियों को यह मास्क उपलब्ध हो इसके लिए ओलंपिक संघ सरकार से बात करेगा। सरकार की मदद से इस तरह के मास्क भारी मात्रा में तैयार करवाने के प्रयास किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here