फुकुशिमा से निकलेगी Tokyo Olympic की टार्च रिले

0
776

Tokyo Olympic: 21 मार्च 2021 से रिले, 121 दिनों में 859 शहरों से गुजरेगी

नई दिल्लीः 23 जुलाई 2021 से शुरू होने जा रहे Tokyo Olympic की टॉर्च रिले शुरू होने में करीब तीन महीने ही बचे हैं। मगर अब भी वही सवाल सभी को सता रहा है कि कोरोना महामारी के बीच क्या इसका सफल और सुरक्षित आयोजन सफल हो पायेगा ? आयोजकों ने मंगलवार को कहा कि रिले 25 मार्च को फुकुशिमा से शुरू होगी।

Challenger Trophy: गेंदबाजी में टाॅप पर मोहित, बल्लेबाजी में मानेन्द्र और यश का जलवा

नौ महीने पहले जब महामारी के कारण Tokyo Olympic स्थगित हुए थे, तब भी रिले फुकुशिमा से ही शुरू होनी थी। यह तटवर्ती शहर जापान का वो शहर है जो दस साल पहले भूकंप और सुनामी में तबाह हो गया था। इसके बाद परमाणु संयंत्रों से रिसाव की त्रासदी भी इस शहर नें झेली थी।

पहली बार महिला को भारतीय बॉडी बिल्डिंग (IBBF) की कमान

पूरे जापान में इस आलोंपिक टाॅर्च रिले को घूमाया जाएगा, जिसमें 10,000 धावक और सैकड़ों अधिकारी भी भाग लेंगे, इस रिले में स्थानीय रहवासी शामिल नहीं हो सकेंगे। Tokyo Olympic आयोजन समिति के उप महानिदेशक यूकिहिको नुनोमूरा ने कहा, टॉर्च रिले के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाएगा। दर्शक, टॉर्च को थामने वाले और अधिकारी सब इसका पालन करेंगे।

32 फीसदी लोग नहीं चाहते कि Tokyo Olympic हो

2021 में Tokyo Olympic की मेजबानी टोक्यो को ही करनी थी, लेकिन अब जापान में करीब 32 फीसदी लोगों का कहना है कि अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों को कैंसिल कर देना चाहिए। हाल ही में हुए एक ताजा ओपिनियन पोल में इसका खुलासा हुआ है।

Challenger Trophy: गेंदबाजी में टाॅप पर मोहित, बल्लेबाजी में मानेन्द्र और यश का जलवा

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, जापान के प्रसारणकर्ता एनएचके ने पिछले सप्ताह एक टेलीफोन सर्वे किया था, जिसमें उसे 1200 से अधिक लोगों के जवाब मिले थे। प्रसारणकर्ता ने इन लोगों से पूछा था कि क्या 2021 में ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों का आयोजन होना चाहिए या नहीं होना चाहिए। एनएचके ने अपने सर्वे में पाया कि 27 फीसदी लोग मानते हैं कि Tokyo Olympic का आयोजन होना चाहिए, जबकि 32 फीसदी लोगों का कहना है कि इन खेलों को रद कर देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here