Nike ने तोड़ा बीसीसीआई से 370 करोड़ का करार

0
587

बदलेगी टीम इंडिया की जर्सी, Nike का विकल्प ढूंढेगा बोर्ड,
covid-19 के कारण कई सीरीज रद्द, भारी नुकसान से डरी कंपनी

 

मुंबई। covid-19 के कारण रद्द हो रहे भारतीय क्रिकेट टीम के दौरों का असर अब दिखने लगा है। टीम इंडिया की जर्सी स्पाॅन्सर Nike ने बीसीसीआई से अपने करार को रिन्यू करने से इनकार कर दिया है। Nike ने बीसीसीआई से 4 साल के लिए 370 करोड़ रूपए का करार किया था। जिसमें 85 लाख प्रति मैच फीस और 30 करोड़ की रॉयल्टी भी शामिल थी। लेकिन कंपनी ने अब इसे आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया है।
कंपनी का कहना है कि कोरोना के कारण जिस तरह से भारतीय क्रिकेट टीम के दौरे और क्रिकेट आयोजन रद्द हो रहे हैं। उससे Nike को भारी नुकसान हो रहा है। और निकट भविष्य में क्रिकेट मैचों के आयोजन शुरू होने की संभावना भी नहीं है। Nike के करार रिन्यू करने से इनकार के बाद अब बीसीसीआई टीम इंडिया की अपैरल (जर्सी) स्पॉन्सरशिप डील के लिए नए टेंडर मंगाएगी। नाइकी का करार इसी साल सितंबर में समाप्त हो रहा है।

अंतरराष्ट्रीय सीरीज रद्द होने से नुकसान

बीसीसीआई सूत्रों का कहना है कि Nike के डील छोड़ने का अहम कारण कोरोना लाॅकडाउन है। कोरोना के कारण भारत- दक्षिण अफ्रीका वनडे सीरीज रद्द हुई, श्रीलंका और जिम्बाब्बे दौरा भी रद्द हो गया। आगे भी सीरीज कब हो पाएंगी, यह तय नहीं है। इस कारण Nike चाह रही थी कि बीसीसीआई उसे आर्थिक रियायत प्रदान करे लेकिन इस पर कोई निर्णय नहीं हो सका। लिहाजा नाइकी ने करार को रिन्यू करने से इनकार कर दिया।

Indian Swimmers विदेशों में करेंगे प्रैक्टिस, सरकार को भेजेंगे प्रस्ताव

Happy Birthday Harmeet Desai.. Indian Table Tennis Star

खिलाड़ियों को मुफ्त देती है सामान

Nike दुनिया की सबसे बड़ी स्पोर्ट्स अपैरल कंपनियों में से एक है। डील के मुताबिक, भारतीय टीम को शूज, जर्सी और अन्य सामान मुफ्त में देती है। पहली बार बोर्ड की 2006 में Nike से डील हुई थी। इसके बाद से ही कंपनी बीसीसीआई से जुड़ी रही है। लेकिन अब कोरोना ने यह कारोबारी संबंध समाप्त करवा दिए हैं।

घरेलू कैलेंडर भी अधर में, दिलीप-विजय हजारे ट्रॉफी पर संकट

कोरोना के कारण अंतरराष्ट्रीय सीरीज ही नहीं, बल्कि घरेलू क्रिकेट भी प्रभावित हुआ है। बीसीसीआई की हाल ही में हुई अपेक्स काउंसिल की मीटिंग में घरेलू कैलेंडर को लेकर भी बात हुई। लेकिन इस पर कोई निर्णय नहीं हो पाया। अगले साल जनवरी में कोरोना को लेकर हालात कैसे होंगे, यह अभी नहीं पता है। ऐसे में नया घरेलू कैलेंडर अभी तैयार नहीं होगा। मौजूदा हालात में यह माना जा रहा है कि दिलीप और विजय हजारे ट्रॉफी रद्द करनी पड़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here