राजस्थान और Chennai के लिए आज आर-पार का मुकाबला

0
838
crossing cross for rajasthan and chennai today

आज Chennai और राजस्थान रॉयल्स होंगी आमने-सामने 

हारने वाली टीम के प्लेऑफ में जाने की उम्मीद कम, आंकड़ों में चेन्नई भारी

यूएई। आईपीएल-13 के 37वें मुकाबले में आज चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai) का सामना राजस्थान रॉयल्स (RR) से होगा। शेख जायद स्टेडियम में होने वाले इस मैच में प्लेऑफ की रेस में बने रहने के लिए दोनों टीमों को जीत की सख्त जरूरत है। दोनों ही टीमें अपना पिछला मैच हार चुकी है।

राजस्थान को बैंगलोर ने सात विकेट से तो Chennai को दिल्ली ने पांच विकेट से करारी शिकस्त दी थी। चेन्नई को दिल्ली कैपिटल्स ने हराया था जबकि राजस्थान को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने मात दी थी। अंकतालिका में दोनों टीमों के अंक बराबर हैं, लेकिन Chennai छठे पायदान पर है और राजस्थान सातवें पर।

पंजाब का स्ट्रगल..लेकिन कप्तान KL Rahul टॉप पर

आईपीएल के 13वें सीजन में दोनों टीमों की स्थिति लगभग एक जैसी है। दोनों ने शुरुआत तो अच्छी की थी मगर बाद में लय बरकरार नहीं रख पाई। राजस्थान की बात करें तो बेन स्टोक्स के आने से टीम निश्चित ही मजबूत हुई है लेकिन बटलर और स्टोक्स की सलामी जोड़ी को पिच पर टिककर खेलना होगा। वहीं स्टीव स्मिथ, संजू सैमसन शुरुआती मैचों में चलने के बाद फ्लॉप रहे हैं।

नतीजा जो हो..तीन रिकॉर्ड कर रहे है आज Dhoni का इंतजार

दूसरी तरफ, Chennai के पिछले मैच में सैम करन शून्य पर आउट हो गए थे। फाफ डुप्लेसिस और शेन वॉटसन उस तरह से प्रदर्शन करने में असफल रहे हैं। सलामी जोड़ी टीम को मजबूत शुरुआत देने में नाकाम रही है। वहीं टीम की सबसे बड़ी ताकत स्पिन गेंदबाज अभी तक अपने रोल को बखूबी अदा नहीं कर सके हैं। दोनों ही टीमें IPL में अबतक कुल 23 बार एक दूसरे से भिड़ चुकी हैं, जिसमें से 14 बार जीत चेन्नई सुपर किंग्स के हाथ लगी है, जबकि 9 बार राजस्थान ने मैच को अपने नाम किया है।

Chennai: धोनी की कप्तानी और बल्लेबाजी दोनों पर होंगी नजरें

Chennai की बात की जाए तो दिल्ली के खिलाफ उसके बल्लेबाज चले थे। सैम कुरैन के पहले ही ओवर में आउट होने के बाद शेन वाटसन, फाफ डु प्लेसिसि, अंबाती रायडू ने मोर्चा संभाला था और अंत में रवींद्र जडेजा ने तूफानी पारी खेल, टीम को प्रबल स्कोर दिया था। कप्तान एमएस धोनी का फॉर्म हालांकि टीम कि चिंता का सबब है, क्योंकि धोनी अभी तक बल्ले से कमाल नहीं दिखा पाए हैं।

Chennai के बल्लेबाजों का निरंतर फॉर्म में न रहना भी टीम के लिए एक चिंताजनक बात है। राजस्थान के खिलाफ कितने बल्लेबाज पिछले मैच के प्रदर्शन को कायम रखते हैं, यह देखना अहम होगा। गेंदबाजी में असल मायनों में कुरैन टीम के लिए सफल रहे हैं। दिल्ली के खिलाफ भी 19वां ओवर फेंक उन्होंने मैच को चेन्नई के लिए आसान बना दिया था, लेकिन ड्वेन ब्रावो के न होने के कारण जडेजा को आखिरी ओवर फेंकना पड़ा था और टीम मैच हर गई थी। ब्रावो की चोट कैसी है इस पर कोई जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है। अगर ब्रावो नहीं खेलते हैं तो जोश हेजलवुड के खेलने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी। बाकी दीपक चहर और शार्दुल ठाकुर तो टीम को गेंद से अच्छी शुरूआत देने में सफल रहे हैं।

राजस्थान को बल्लेबाजों के लय में आने की उम्मीद

राजस्थान के लिए बीते मैच पर नजर डाले तो इसमें अच्छी बात यह रही थी कि उसकी बल्लेबाजी शानदार थी। सलामी जोड़ी में बदलाव किया गया था और बेन स्टोक्स के साथ रॉबिन उथप्पा को पारी की शुरूआत के लिए भेजा गया था। उथप्पा सफल रहे थे और उन्होंने अपने अंदाज में ही बल्लेबाजी की थी। स्टोक्स के साथ उन्होंने 50 रन जोड़े थे। उनके अलावा कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी शानदार पारी खेल अर्धशतक जमाया था और उन्हीं के दम पर टीम एक मजबूत स्कोर खड़ा करने में सफल रही थी।

टीम प्रबंधन एक बार फिर उम्मीद करेगा कि टीम के बल्लेबाज इसी तरह का प्रदर्शन जारी रखें। साथ ही वह चाहेगा कि संजू सैमसन और बेन स्टोक्स अपनी फॉर्म में लौटें। निचले क्रम में साथ देने के लिए उनके पास राहुल तेवतिया हैं जो बड़े शॉट्स मारने में सक्षम हैं। वहीं गेंदबाजी की जहां तक बात है तो जोफ्रा आर्चर और कार्तिक त्यागी ने लगातार दबाव डाला है। स्पिन में तेवतिया और श्रेयस गोपाल भी अच्छा कर पाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here